म्यांमार के पास चीन ने बढ़ाई ताकत, सीमा पर होवित्जर तोप किया तैनात, क्या करना चाहता है ड्रैगन?

61
0

बीजिंग: चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी म्यांमर से लगने वाली सीमा पर अलर्ट है। म्यांमार में सेना के खिलाफ विद्रोही खड़े हो गए हैं। पड़ोस में बढ़ रहे तनाव को देखते हुए चीनी सेना सीमा पर युद्धाभ्यास कर रही है। इस बीच चीन ने होवित्जर तोप और रडार को भी यहां तैनात कर दिया है। बॉर्डर की सुरक्षा के मद्देनजर चीन की ओर से यह युद्धाभ्यास हो रहा है। एक्सपर्ट्स का मानना है कि चीनी सेना की हथियारों की पसंद जंगलों से ढके पहाड़ों वाले क्षेत्र में बेहद अच्छी है।

वार्षिक प्रशिक्षण कार्यक्रम के मुताबिक तीन दिनों तक चलने वाला युद्धाभ्यास शनिवार को शुरू हुआ। इस दौरान पीएलए दक्षिणी थिएटर कमांड ने अपनी सेना की टुकड़ियों को संगठित करने और सैनिकों की क्षमताओं का परीक्षण किया। चीन के सरकारी टेलिविजन सीसीटीवी ने बताया कि नाकाबंदी और गोलीबारी की गई। दक्षिणी थिएटर कमांड की ओर से समन्वयित आदेश के तहत अलग-अलग क्षेत्रों में लाइव फायरिंग का अभ्यास किया।

चीन क्यों बढ़ा रहा ताकत
पैदल सेना से लड़ने वाले वाहनों ने सैनिक इकाइयों को कवर करने के लिए स्मोक स्क्रीन तैनात की। इसके अलावा चीनी सेना ने पहाड़ों और जंगलों में छिपे लक्ष्यों पर सटीक निशाना साधने का अभ्यास किया। इसके लिए सैन्य वाहनों पर लगी रैपिड-फायर बंदूकों और मोर्टार समेत कई प्रकार की तोपों से निशाना लगाया गया। चीन-म्यांमार का बॉर्डर पहाड़ों से भरा है। इसके अलावा ये पहाड़ जंगलों से ढका है। ऐसे में टार्गेट को खोजना बेहद मुश्किल हो जाता है। चीन को डर है कि विद्रोह के कारण म्यांमार से विद्रोही या सेना के लोग बॉर्डर क्रॉस कर सकते हैं।

म्यांमार में क्या हो रहा

विशेषज्ञों ने कहा कि हाल ही में तैनात की गई होवित्जर और एंटी बैटरी रडार सहित तोपखाने चीन की सेना को संभावित खतरों का सटीक पता लगाने और उन्हें मार गिराने में सक्षम बनाएंगे। एंटी बैटरी रडार यह पता लगाने में सक्षम है कि आखिर दुश्मन का प्रोजेक्टाइल कहां से आ रहा है। दरअसल म्यांमार में पिछले कुछ हफ्तों से विद्रोह ग्रुप उठ खड़े हुए हैं। उन्होंने कई महत्वपूर्ण कस्बों पर कब्जा कर लिया है, जिनमें से कई चीन-म्यांमार व्यापार के लिए महत्वपूर्ण है। चीन ने म्यांमार में शांति की अपील के साथ अपनी तैयारी बढ़ा ली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here