Home उत्तर प्रदेश

गैंगस्टर विकास दुबे के मददगार यूपी पुलिस के 2 अफसर गिरफ्तार

878
0

कानपुर 8 जुलाई । अपने 8 कर्मचारियों को गंवा कर देश भर में अपनी किरकिरी करा चुकी यूपी की कानपुर पुलिस को अपने ही घर मे घुसे दुश्मनों का मुकाबला करना पड़ रहा है। हालत ये है कि यूपी पुलिस के 8 जवानों की हत्या की जघन्य वारदात के एक हफ्ते बाद भी पुलिस गैंगस्टर विकास दुबे तक नही पहुंच पाई है। हत्यारे की लोकेशन मिलती भी है तो वह पुलिस के पहुंचने के पहले ही वहां से निकल चुका होता है। विकास दुबे के मामले में बेचारगी का सामना कर रही यूपी पुलिस को अब अपने ही स्टाफ को गिरफ्तार करना पड़ रहा है। बुधवार को विकास की मदद करने के आरोप में थाना इंचार्ज और बीट प्रभारी को गिरफ्तार किए जाने के बाद यूपी पुलिस में हड़कम्प मच गया है।

पांच लाख के इनामी बदमाश विकास दुबे की मदद करने के आरोप में बुधवार को दो पुलिस अधिकारियों को गिरफ्तार किया गया है। जानकारी के मुताबिक चौबेपुर पुलिस स्टेशन के निलंबित एसओ विनय तिवारी और बीट प्रभारी केके शर्मा को आखिरकार गिरफ्तार कर लिया गया है। बता दें कि विनय तिवारी से बुधवार सुबह से ही एसटीएफ की पूछताछ चल रही थी जिसके बाद उन्हें हिरासत में ले लिया गया था। हालांकि अब ताजा जानकारी सामने आ रही है कि उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है। विनय तिवारी पर घटना वाले दिन पुलिस के बारे मे मुखबिरी करने का शक था,जिस वजह से उनको गिरफ्तार किया गया है।

बुधवार को विनय तिवारी के अलावा तत्कालीन बीट प्रभारी केके शर्मा से भी पूछताछ की गई है और पूछताछ के बाद उनको भी गिरफ्तार कर लिया गया है। केके शर्मा पर भी मुखबिरी का आरोप है। बता दें कि पुलिस की टीम विकास दुबे के सभी मददगारों के कॉल डिटेल खंगाल रही है।इस मामले में पूरे चौबेपुर थाने के 68 कर्मचारियों को लाइन हाजिर किया जा चुका है। एसपी को भी पनिशमेंट ट्रांसफर दिया गया है।

ये भी पढ़ें : कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे के साले और भतीजे को यूपी stf ने शहडोल से उठाया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here