महापराक्रमी योध्दा श्रीकृष्ण

महा पराक्रमी योद्धा श्रीकृष्ण –डॉ.पवन विजय कवियों, साहित्यकारों की कल्पना में कृष्ण कोमल, रसिक , श्रृंगार प्रिय और रमणविहारी हैं। लोक और साहित्य दोनों में उनके...

मनुष्य मरणधर्मा हैं, मगर मनुष्यता न मरे…!

मनुष्य मरणधर्मा हैं, मगर मनुष्यता न मरे...! ―डॉ.विवेक चौरसिया संसार के सारे धर्मावलंबियों में हिन्दू गज़ब हैं। इसलिए कि उनके पास जीवन से जुड़े गूढ़ प्रश्नों...

राजा राम

राजा राम ― अभिजीत सिंह 'भारत भूमि' पर 'पृथु' से लेकर 'हरिश्चंद्र', 'मान्धाता' और 'रघु' से लेकर 'श्रीकृष्ण' और 'युधिष्ठिर' तक जितने राजा हुये उनकी संख्या...

शल्य चिकित्सा और आचार्य चाणक्य

शल्य चिकित्सा और आचार्य चाणक्य ―देवेन्द्र सिंह शल्य क्रिया से शिशुजन्म को "सीजेरियन" कहते हैं और इसको जूलियस सीजर के जन्म से जोड़कर मानते हैं ।...

सनातन धर्म में विदेश यात्रा

सनातन धर्म में विदेशयात्रा गमन ―मुदित मित्तल सनातन धर्म के सभी शास्त्रों में भारतभूमि को साक्षात देवभूमि माना गया है, जहाँ ईश्वर के अवतार हुए, असंख्य...

आग की भट्टी में सुलगते गाँव

आग की भट्टी में सुलगते गाँव ―कृष्णमुरारी त्रिपाठी अटल कोरोना संक्रमण अपने चरम पर है,इससे लगभग कोई भी अछूता नहीं रह गया है। गाँव आज...

स्वामी संवित सोमगिरि : अद्वैत की एक प्रभावी आवाज मौन में लीन

स्वामी संवित सोमगिरि : अद्वैत की एक प्रभावी आवाज मौन में लीन ―विजय मनोहर तिवारी स्वामी संवित सोमगिरि भारत की अद्वैत वेदांत दर्शन की एक ऐसी...

फ़लस्तीनी पहचान और महात्मा गाँधी

फ़लस्तीनी पहचान और महात्मा गाँधी ―सुशोभित मैं सलमान रूश्दी की किताब 'इमेजनरी होमलैंड्स' में एडवर्ड सईद से उनकी एक बातचीत पढ़ रहा था। सलमान इस्लाम के...

धन्य वह भूमि जहां साक्षात् शंकर के चरण पड़े

धन्य वह भूमि जहां साक्षात् शंकर के चरण पड़े वैशाख शुक्लपंचमी/ जयराम शुक्ल राष्ट्र की सनातन संस्कृति के अविरल प्रवाह की प्रशस्ति के लिए सर्वप्रिय गीत-...

जीवन पथ को आलोकित करते महावीर स्वामी

'जीवन पथ को आलोकित करते महावीर स्वामी' ~कृष्णमुरारी त्रिपाठी अटल भारतीय सनातन धर्म संस्कृति जिसमें सदैव सत्य की अनुभूति ,खोज तथा उसका व्यैक्तिक और सामूहिक तौर...
20,539FansLike
2,325FollowersFollow
0SubscribersSubscribe