अनैतिकता में से ‘अ’ हटाने की इतनी बेसब्री क्यों ?

अनैतिकता में से 'अ' हटाने की इतनी बेसब्री क्यों ? ~कृष्णमुरारी त्रिपाठी अटल आज सुबह से इस न्यूज़ को देख रहा हूं।कोई बताए इसमें गलत क्या...

महान सम्राट : महाराणा प्रताप के पूर्वजों की शौर्यगाथा

महाराणा प्रताप के पूर्वजों की शौर्यगाथा -प्रियांशु सेठ सूर्यवंशी और चन्द्रवंशी राजाओं की सन्तान ही राजपूत लोग हैं। मेवाड़ के शासनकर्त्ता सूर्यवंशी राजपूत हैं। ये लोग...

जनक सुता : जगज्जननी

जनक सुता : जगज्जननी  ~मुदित अग्रवाल यह जनकसुता कौन हैं, जिस अग्नि की उपासना करते करते द्विजों का देह स्वेद से तर हो गया है और...

नालन्दा से हमने क्या सीखा…!?

नालन्दा से हमने क्या सीखा...!? ~राजकिशोर सिन्हा किशोरावस्था में हमने पढ़ा था - "विश्व में जब कहीं युनिवर्सिटी का नाम भी नहीं था तब बिहार में...

कविता में नारी मन प्राण की सहजता का समावेश और उसकी नैसर्गिक जीवन चेतना...

कविता में नारी मन प्राण की सहजता का समावेश और उसकी नैसर्गिक जीवन चेतना की सार्थक अभिव्यक्ति ! —राजीव कुमार झा सदियों से कविता के सुरम्य...

लोकरक्षक भगवान परशुराम

लोकरक्षक भगवान परशुराम ~इन्दुशेखर तत्पुरुष पुराणों के अनुसार भगवान परशुराम विष्णु के छठे अवतार हैं। अधर्म के विनाश तथा धर्म की संस्थापना के लिए उन्होंने अपने...

मानसिक स्वास्थ्य की परवाह क्यों नहीं…?

मानसिक स्वास्थ्य की परवाह क्यों नहीं? ~कृष्णमुरारी त्रिपाठी अटल  विश्व के बदलते हुए परिदृश्य के साथ ही अनेकानेक संकटों से समाज जूझ रहा है।स्वास्थ्य सुविधाओं की...

भारतीय इतिहास को वामपंथियों ने तोड़- मरोड़कर प्रस्तुत किया

भारतीय इतिहास को वामपंथियों ने तोड़ - मरोड़कर प्रस्तुत किया डॉ. अंबु को साहित्यकारों ने अर्पित की श्रद्धाञ्जलि पाठक मंच सतना के तत्वावधान में पुस्तक विमर्श...

कविताओं के आँगन में – वसंती धूप

राजीव कुमार झा की कविताएँ १. मुलाकात हम दोस्त हैं क्या जरूरत भर एक - दूसरे को जानते हैं तुम्हें कुछ दिनों से पहचानते हैं क्या इस वक्त तुम  अपने साथ हो आदमी...

सारे बिकाऊ चेहरों के मुँह पर कालिख हैं ; यूपी के चुनाव परिणाम 

सारे बिकाऊ चेहरों के मुँह पर कालिख हैं ; यूपी के चुनाव परिणाम  ~विजय मनोहर तिवारी क्रिकेट और राजनीति में मेरी समझ ज्यादा नहीं है, न...
20,539FansLike
2,325FollowersFollow
0SubscribersSubscribe