Home मध्य-प्रदेश

पानी के लिए रूका मुख्यमंत्री का काफिला

58
0

भोपाल । राजधानी भोपाल के कई इलाकों में पानी इतना मटमैला आ रहा है कि वह पीने लायक ही नहीं है। इस कारण लोग खरीदकर पानी पी रहे हैं। दूसरी ओर कुछ जगह प्रेशर की समस्या भी बनी हुई है। कुछ इलाकों में पानी नहीं आने की शिकायतें लोग कर रहे हैं। नेहरू नगर स्थित न्यू शबरी नगर तिराहे पर कुछ लोग हाथों में बर्तन लेकर खड़े थे। तभी वहां से गुजर रहे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपना काफिला रूकवाया और लोगों से बात की। उन्होंने मौके से ही नगर निगम कमिश्नर से मोबाइल पर बात की और सप्लाई व्यवस्था सुधारने को कहा।

राजधानी के अनेक इलाकों में बीते तकरीबन एक हफ्ते से पानी की समस्या को लेकर लोग जूझ रहे हैं। पहले तो कोलार पाइपलाइन में सुधार को लेकर लगभग आधे शहर में तीन दिन तक पानी सप्लाई बाधित रही। जैसे-तैसे पाइपलाइन बदलने के बाद नगर निगम में पानी की सप्लाई शुरू की तो मटमैले पानी की समस्या शुरू हो गई। कई इलाकों में इस कदर मटमैला पानी आ रहा है कि वह इस्तेमाल के लायक ही नहीं। वहीं कई जगहों पर कम प्रेशर से पानी सप्लाई हो रहा है। इस वजह से लोग परेशान हैं और नगर निगम के खिलाफ जगह-जगह प्रदर्शन हो रहे हैं।


नलों से मटमैला पानी रहा
शहर के 60 प्रतिशत हिस्से में नगर निगम 12 से 15 मई तक कोलार पाइप लाइन से पानी सप्लाई नहीं कर पाया था। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रभारी मंत्री भूपेंद्र सिंह, सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह की फटकार और कांग्रेसियों के बाद सप्लाई शुरू तो हुई, लेकिन परेशानी पूरी तरह से दूर नहीं हो पाई है। पिछले 3 दिन से नलों से मटमैला पानी आ रहा है। कई इलाकों में पानी पीना तो दूर घरेलू इस्तेमाल के लायक भी नहीं है। मंगलवार को भी यह समस्या बरकरार रही। रहवासी रवि उपाध्याय ने बताया, छह दिन बाद 17 मई को पानी की सप्लाई हुई, लेकिन वह मटमैला ही आया। आज नल सूखे हैं। निगम की ओर से सप्लाई करने या नहीं करने के संबंध में कोई सूचना नहीं मिली। गर्मी में पानी की किल्लत हो गई है। संदीप साहू ने बताया, निशातपुरा, बैरसिया रोड एरिये में पानी की किल्लत है।

कमलनाथ ने सरकार को घेरा
इधर, पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने राजधानी में बिगड़ी जलप्रदाय व्यवस्था को लेकर सरकार पर तंज कसा है। उन्होंने ट्विट करते हुए लिखा- मध्यप्रदेश की 17 वर्ष की भाजपा सरकार में आज भी लोगों को इस भीषण गर्मी में ना पीने का पानी मिल पा रहा है, ना बिजली मिल पा रही है, ना रोजगार मिल पा रहा है, ना किसानों को न्याय मिल पा रहा है, ना बहन-बेटियों को सम्मान व सुरक्षा मिल पा रही है।

एकदो दिन में पूरी तरह से दूर होगी समस्या
मटमैले पानी की सप्लाई को लेकर निगम के अफसरों का दावा है कि एक-दो दिन में समस्या पूरी तरह से दूर हो जाएगी। कमिश्नर केवीएस चौधरी कोलसानी ने बताया, नई कोलार लाइन के जरिए अब टंकियां जल्दी भर रही है। इससे प्रेशर की समस्या दूर होगी। जलप्रदाय व्यवस्था की मानीटरिंग की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here