Home मध्यप्रदेश

महाकाल की नगरी में मुख्यमंत्री की चेतावनी

12
0

उज्जैन । मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मंगलवार दोपहर डेढ़ बजे उज्जैन पहुंचे। यहां कालिदास अकादमी में दिव्यांगों को बैटरी चलित ट्राइसाइकिल बांटने से पहले उन्होंने कहा, महाकाल का तीसरा नेत्र खुल गया है। ड्रग माफिया, भू-माफिया, जमीनों पर कब्जा करने वाले, दादागीरी करने वाले, बेटी-बहनों को छेडऩे वाले, चिटफंड कंपनी के नाम पर धोखा देने वाले सावधान हो जाएं। उन्हें तबाह और बर्बाद करके छोड़ेंगे। अपराधी सावधान हो जाएं। कोई नहीं बचेगा। माटी में मिला दूंगा।

उन्होंने कहा कि इसीलिए चौथी बार मुख्यमंत्री बना हूं। नहीं तो सोच रहा था, पांच-एक साल के लिए गए, लेकिन सवा साल में ही वनवास खत्म हो गया। अब इसी काम के लिए आए हैं। जनता के कल्याण में कसर नहीं रहेगी। माफियाओं के खिलाफ अभियान चलता रहेगा। दोपहर ढाई बजे से त्रिवेणी संग्रहालय में महाकाल विकास क्षेत्र की परियोजनाओं का निरीक्षण कर अधिकारियों के साथ बैठक की। इसके बाद विकास कार्यों का निरीक्षण किया।

400 करोड़ की भूमि छुड़वाने पर थपथपाई पीठ

मुख्यमंत्री ने नरेश जिनिंग मिल को आड़े हाथों लेते हुए कहा, जिनिंग के नाम पर 400 करोड़ की जमीन पर कब्जा जमाए बैठे हैं। सोमवार को एक ही दिन में हुई ताबड़तोड़ कार्रवाई से मुख्यमंत्री संतुष्ट दिखे। उन्होंने कहा, नरेश जिनिंग मिल, गुंडे-माफियाओं के कब्जे से जो भी जमीन मुक्त कराई जा रही है, वह भी जनता के लिए काम आएगी।

महाकाल मंदिर के लिए सरकार देगी रूपए

मुख्यमंत्री ने महाकाल मंदिर क्षेत्र में हो रहे विकास कार्यों की विस्तृत जानकारी ली और प्रजेंटेशन देखा। स्थानीय अधिकारियों ने उन्हें बताया कि क्षेत्र में करीब 500 करोड़ रुपये के कार्य प्रस्तावित हैं। इस पर सीएम शिवराज ने कहा कि पैसे की चिंता मत कीजिए। महाकाल मंदिर के लिए जितना रुपये लगेगा, सरकार देगी। उन्होंने सभी निर्माण कार्यों के जल्द पूरा करने के भी निर्देश दिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here