Home विदेश

जानबूझ कर क्रैश कराया गया था चीनी एयरक्राफ्ट, ब्लैक बॉक्स ने खोले कई राज, हादसे में हुई 132 लोगों की मौत

63
0

बीजिंग । चीन में 21 मार्च को एक विमान दुर्घटना में 132 लोगों की मौत हुई थी। विमान के ब्लैक बॉक्स के डेटा विश्लेषण से कई अहम खुलासे हुए हैं। माना जा रहा है कि विमान को जानबूझ कर क्रैश कराया गया था। क्रैश होने के अंतिम क्षणों में विमान सीधे अपनी नाक के बल गिरा। एक मीडिया रिपोर्ट में यह जानकारी अमेरिकी अधिकारियों के हवाले से दी गई है। विमान तब दुर्घटनाग्रस्त हुआ जब वह युन्नान प्रांत के कुनमिंग से चीन के दक्षिण-पूर्वी तट पर ग्वांगझू की ओर जा रहा था।

गुआंग्शी क्षेत्र के वुझोउ शहर में ये विमान दुर्घटनाग्रस्त हुआ। मीडिया रिपोर्ट में बताया गया है कि ब्लैक बॉक्स से मिली जानकारी से पता चलता है कि कॉकपिट नियंत्रण से ऐसे इनपुट फीड किए गए, जिससे विमान घातक रूप से गिर गया। उन्होंने कहा कि जहाज ने वही किया जो उसे करने के लिए कमांड किया गया था। चाइना ईस्टर्न एरयलाइंस का विमान एमयू5735 ग्वांगझू पहुंचने से कम से कम एक घंटे पहले क्रैश हुआ। घटना का एक कथित वीडियो भी सामने आया है, जिसमें दिख रहा है कि विमान 90 डिग्री के कोण पर जमीन से टकराया।

फ्लाइट ट्रैकिंग सर्विस के डेटा के मुताबिक बोइंग 737-800 विमान 29,000 फीट तक मात्र दो मिनट के अंतर पहुंच गया। विमान ने एक समय खुद को कंट्रोल करने की कोशिश की। लेकिन अंत में यह जंगल में क्रैश हो गया। क्रैश होते ही यह आग का गोला बन गया। 20 अप्रैल को चीन के उड्डयन नियामक ने भी रिपोर्ट जारी कर कहा था कि विमान या कार्गो में कोई समस्या नहीं थी।

विमान को जानबूझ कर क्रैश कराने के ज्यादातर मामले हाईजैकिंग से जुड़े हैं। हाईजैक होने वाले कई प्लेन क्रैश हुए हैं। दुनिया में विमान हाइजैक और क्रैश का सबसे बड़ा उदाहरण अमेरिका में 9/11 का आतंकी हमला है। वहीं पायलट द्वारा जानबूझकर विमान को क्रैश कराने की दुर्घटनाएं 1999 से दो बार दर्ज की गई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here