Home खेल

अपने पुराने दिनों को याद कर डर जाते हैं मोईन

68
0

मुंबई । चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) की ओर से खेल रहे इंग्लैंड के ऑलराउंडर मोईन अली ने अपने पुराने दिनों को याद करते हुए कहा कि उन्हें यहां तक पहुंचने के लिए कठिन संघर्ष करना पड़ा है। साथ ही कहा कि पुराने दिनों को याद कर वह सिहर जाते हैं। मोईन ने कहा कि खेल के प्रति जुनून के कारण ही वह यहां तक पहुंचे हैं जबकि एक समय ऐसा भी था जब उनके परिवार के पास खाने के लिए भी कुछ नहीं था। तब कई दिन ऐसे भी होते थे जब उनके परिवार के पास एक पाउंड भी नहीं होता था। इस कारण उन्हें कई बार सैंडविच या ककड़ी पर जीवित रहने के लिए मजबूर होना पड़ा था।

इस ऑलराउंडर ने कहा कि मेरे पिता खेल के लिए प्रति बहुत जुनूनी थे। मैं आठ साल का था जब मैंने पार्क में अपने भाइयों के साथ खेलना शुरू किया, और मुझे लगा कि वे भी बेहतर हो रहे हैं। इसलिए जब मैं 19 साल का था, तब मैंने एक ट्रायल लिया और यह पहली बार था जब मैंने कभी किसी के साथ खेला।

मोइन ने कहा, यह शुरुआत थी और मैं जल्द ही कम उम्र में काउंटी क्रिकेट खेल रहा था, अच्छा कर रहा था और खेल से प्यार कर रहा था। यह फुटबॉल, क्रिकेट, फुटबॉल, क्रिकेट था। क्रिकेट मेरे पिताजी का जुनून था और हम बस आगे बढ़ते गए। मोइन ने कहा कि उनके पिता को एक मनोरोग नर्स के रूप में उनके काम और बच्चों को काउंटी खेलों के लिए ले जाने के लिए भी संघर्ष करना पड़ता था।

 

उन्होंने कहा कि वह कभी-कभी वह पेट्रोल और कभी-कभी भोजन का खर्च तक नहीं उठा पाते थे।
मेरे पिता जी एक मनोरोग नर्स के रूप में काम करते थे, जिसका अर्थ है कि आपको लोगों को मानसिक रूप से संघर्ष करते और अस्पताल में सामान देखना होगा लेकिन साथ ही साथ, उन्हें मुझे और मेरे भाइयों को काउंटी खेलों, परीक्षणों और प्रशिक्षण के लिए ले जाना पड़ा। वह पेट्रोल नहीं खरीद सकता थे, वह कभी-कभी भोजन नहीं कर सकते थे। यह बहुत मुश्किल था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here