Home Videos

महाकाल की चौखट पर पकड़ाया मोस्ट वांटेड गैंगस्टर विकास दुबे

1338
0

उज्जैन में नाटकीय ढंग से पुलिस के हाथों तक पहुंचा शातिर अपराधी 

असलहे लिए घूमती रह गई पुलिस और निहत्थे के हत्थे चढ़ गया 5 लाख का इनामी 

उज्जैन। काल को भी परास्त कर देने में सक्षम महाकाल ने यूपी पुलिस का संकट खत्म कर दिया है। जिसकी तलाश 6 राज्यों में की जा रही थी वह मोस्ट वांटेड गैंगस्टर महाकाल की चौखट पर मिला।महाकाल की शरण मे इस अपराधी ने हथियार डाल दिये हैं। विकास के 2 अन्य साथियों को भी उज्जैन के होटल से पकड़ा गया है। गैंगस्टर ने महाकाल की शरण मे सरेंडर कर दिया है। हालांकि पुलिस का दावा है कि विकास को गिरफ्तार किया गया है।

Most wanted gangster Vikas Dubey caught on Mahakal's frame

महाकाल मंदिर में दर्शन करने पहुंचा था 8 पुलिस कर्मियों का हत्यारा 

यूपी पुलिस के 8 जवानों की हत्या कर फरार हुआ कुख्यात अपराधी विकास दुबे उज्जैन में महाकाल मंदिर में पकड़ा गया है। सूत्र बताते हैं कि उसने खुद महाकाल मंदिर के दफ्तर में पहुंच कर वहां मौजूद कर्मचारियो और सुरक्षा गार्डों को अपना परिचय दिया। उसने कहा मैं बाबा की शरण मे आया हूं, आप पुलिस को सूचना दे दें। इसी के साथ इस दुर्दांत अपराधी ने हथियार डालते हुए आत्म समर्पण कर दिया। उधर पुलिस का दावा है कि पुलिस की मुस्तैदी से शातिर अपराधी पकड़ा गया है। बताया जाता है कि फूल प्रसाद की दुकान में दुकानदार को संदेह हुआ था और उसने ही मंदिर के कार्यालय तथा सुरक्षा गार्डों को सूचना दी थी। जिसके बाद पुलिस ने उसे पकड़ा।

पहले स्नान किया ,प्रसाद लिया और अपने असली नाम से कटवाई वीआईपी पास की पर्ची

विकास पर 5 लाख रु का इनाम घोषित था और यूपी एमपी समेत 6 राज्यों की पुलिस उसकी तलाश कर रही थी। मंदिर के सीसीटीवी फुटेज से खुलासा हुआ है कि विकास ने बीते 24 घंटे में  3 बार महाकाल के दर्शन किये लेकिन अलर्ट के बावजूद पुलिस उसे तब तक नही पहचान सकी जब तक उसने खुद अपना परिचय नही दे दिया। बताया जाता है कि विकास दुबे ने महाकाल के दर्शन के लिए जाने के पहले शिप्रा में स्नान किया , वीआईपी पास के लिए खुद पर्ची कटवाई थी। जबकि उसके किसी पाल के नाम की आईडी के मार्फ़त फरीदाबाद से उज्जैन तक पहुंचने की ख़बर भी चर्चा में है।

मीडिया को देखते ही बोला – मैं विकास दुबे कानपुर वाला 

उज्जैन पुलिस द्वारा पकड़े जाने के बाद जब उसे पुलिस वाहन में बैठाया जाने लगा तो विकास ने मीडिया को देख कर चिल्लाना शुरू कर दिया। वह चिल्ला कर बोला – मैं विकास दुबे हूं कानपुर वाला। बताया जाता है कि शातिर अपराधी विकास दुबे पूरी योजना के तहत हरियाणा से उज्जैन पहुंचा था। वह अपने साथ दो वकील भी लाया था। उसने मीडिया अटेंशन का भी इंतजाम कर रखा था। उज्जैन में वो चित्रकूट यूपी के मूल निवासी शराब कारोबारी के यहां रुका था।

चार्टर प्लेन से पहुंची यूपी एसटीएफ ट्रांजिट रिमांड लेगी 

कानपुर में वर्दी वालों का कत्ल कर फरार हुए विकास दुबे के एमपी के उज्जैन में बेहद नाटकीय ढंग से पुलिस के पास पहुंचने के रहस्यमयी घटनाक्रम के बीच यूपी एसटीएफ चार्टर प्लेन से उज्जैन पहुंची। यूपी एसटीएफ विकास को ट्रांजिट रिमांड पर अपने साथ ले जायेगी। कुख्यात सरगना विकास को उज्जैन सीजेएम तृप्ति पांडेय के सामने पेश किया जाएगा।

मारने के बाद पुलिस वालों को जलाने की भी थी योजना 

विकास दुबे ने उज्जैन में हुई पूछताछ के दौरान 8 पुलिस कर्मियों की हत्या का जुर्म कबूल किया है। उसने अपने खतरनाक इरादों के बारे में पुलिस को बताते हुए कहा कि वह पुलिस वालों की जान लेने के बाद उन्हें जला भी देना चाहता था। इसके लिए उसने भारी मात्रा में तेल का भी इंतजाम करा रखा था। उसने बताया कि पुलिस रेड की खबर उसे पहले ही मिल गई थी , पुलिस इनकाउंटर न कर दे इसलिए उसने अपने साथियों समेत पुलिस टीम पर हमला करा दिया।

मां ने कहा – भगवान ने बचाया , भाजपा में नही सपा में है विकास 

इधर महाकाल की चौखट पर विकास पकड़ा गया और उधर उसकी मां ने कहा भगवान ने बचाया है। वह हर साल उज्जैन जाता था सावन में बाबा का श्रृंगार कराता था।मीडिया कर्मियों से बात करते हुए विकास की मां ने कहा वो नही जानती कि सरकार उसके साथ क्या करेगी, उसके साथ क्या करना है यह सरकार ही तय करेगी। मां ने यह भी कहा कि विकास भाजपा में नही इनदिनों सपा में है। गौरतलब है कि विकास की पत्नी ऋचा उर्फ सोनू भी सपा की सदस्य है । सपा का सदस्यता शुल्क जमा करने की पर्ची भी सामने आ चुकी है।

शिवराज ने की योगी से बात 

विकास के पकड़े जाने की सूचना के बाद एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से फोन पर बात की। सीएम शिवराज ने सीएम योगी को विकास के पकड़े जाने की सूचना दी और बताया कि एमपी पुलिस उसे यूपी पुलिस को हैंड ओवर करेगी। सीएम शिवराज और मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने एमपी पुलिस को इस बड़ी कामयाबी पर बधाई भी दी है।

सीसीटीवी फुटेज में देखिए किस तरह सुरक्षा गार्डों के साथ आराम से निकला दुर्दांत अपराधी

Most wanted gangster Vikas Dubey caught on Mahakal's frame

गिरफ्तारी या सरेंडर ?

एमपी में यह दावा किया जा रहा है कि एमपी पुलिस ने कुख्यात अपराधी विकास को गिरफ्तार किया है जबकि सूत्र और महाकाल मंदिर के सीसीटीवी फुटेज बयान करते हैं कि विकास ने आत्म समर्पण किया है। जिसे 6 राज्यों की पुलिस असलहे लेकर तलाश रही थी वह महाकाल मंदिर के निहत्थे सिक्योरिटी गार्ड के हाथ लगा । फुटेज में विकास बेखौफ अंदाज में सिक्योरिटी गार्ड के साथ जाता हुआ दिखाई पड़ रहा है। सूत्रों की माने तो 8 जुलाई की रात उज्जैन के दो आला अफसर थोड़ी जल्दबाजी में महाकाल मंदिर पहुंचे थे जहां एक मीटिंग भी हुई थी। जिसके बाद 9 जुलाई की सुबह 5 लाख का इनामी विकास दुबे मंदिर परिसर में और उसके 2 साथी बिट्टू और सुरेश  होटल में मिले। हालांकि मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का कहना है कि एमपी पुलिस कानपुर में हुई वारदात के बाद से ही अलर्ट थी और इसी सतर्कता के कारण विकास को पकड़ने में कामयाबी भी मिली है।

ये भी पढ़ें : कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे के साले और भतीजे को यूपी stf ने शहडोल से उठाया

एमपी – यूपी में सियासत गरमाई

विकास के एमपी में इस तरह पकड़ में आने के बाद सियासत भी गरमा गई है। यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने कहा है कि अगर वास्तव में विकास पकड़ा गया है तो सरकार साफ कर कि ये सरेंडर है या गिरफ्तारी ? साथ ही सीडीआर भी सार्वजनिक की जाए। इधर एमपी में कांग्रेस भी हमलावर हो गई है। पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने कहा है कि इस तरह एक कुख्यात अपराधी के एमपी में पकड़े जाने से यह स्पष्ट है कि मध्य प्रदेश अपराधियों की शरण स्थली बना हुआ है। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने भी कहा कि ये सरेंडर है ,गिरफ्तारी नही। पूर्व सीएम कमलनाथ भी इस नाटकीय घटनाक्रम पर तमाम सवाल उठा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here