Home विदेश

श्रीलंका को भारत से मिला डोर्नियर एयरक्राफ्ट:समुद्री निगरानी के काम आएगा

51
0

देश सोमवार को आजादी का जश्न मना रहा है। इस बीच भारत ने श्रीलंकाई नेवी को एक डोर्नियर एयरक्राफ्ट सौंपा है। यह एयरक्राफ्ट मैरिटाइम सर्विलांस यानी समुद्री निगरानी में काम आता है। हैंडओवर सेरेमनी में श्रीलंकाई राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे और इंडियन नेवी के वाइस चीफ वाइस एडमिरल एस. एन. घोरमडे की मौजूदगी रही।

एडमिरल घोरमडे दो दिन के श्रीलंका दौरे पर है। सेरेमनी में इंडियन हाई कमिश्नर गोपाल बागले भी मौजूद थे। एयरक्राफ्ट को श्रीलंकाई एयरफोर्स बेस पर नेवी को सौंपा गया। यह एयरबेस कोलंबो इंटरनेशनल एयरपोर्ट के पास कटुनायके में है। भारत ने यह एयरक्राप्ट श्रीलंका की तात्कालिक सुरक्षा आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए दिया है। इंडियन नेवी श्रीलंका को एयरक्राफ्ट ऑपरेट करने की ट्रेनिंग भी दे चुकी है।

डिफेंस पार्टनरशिप को मिलेगा बढ़ावा
सेरेमनी के दौरान हाई कमिश्नर बागले ने कहा कि भारत और श्रीलंका की सिक्योरिटी को म्युचुअल अंडरस्टैंडिंग, म्यूचुअल ट्रस्ट और कोऑपरेशन से बढ़ावा मिला है। डोर्नियर 228 को भेंट कर भारत ने इस उद्देश्य में अपना योगदान दिया है। इससे दोनों देशों के बीच बाइलैटरल डिफेंस पार्टनरशिप को बढ़ावा मिलेगा।

डोर्नियर 228 एक शॉर्ट टेक-ऑफ एंड लैंडिंग (STOL) मैरीटाइम पेट्रोल एयरक्राफ्ट है। इंडियन नेवी इस मल्टीरोल लाइट ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट का इस्तेमाल इलेक्ट्रॉनिक वॉरफेयर मिशन, मैरिटाइम सर्विलांस और डिजास्टर रिलीफ में करती है। भारत में इस एयरक्राफ्ट का प्रोडक्शन 1981 से हो रहा है।दो डोर्नियर एयरक्राफ्ट देगा भारत
न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, दिल्ली में एक सीनियर अफसर ने बताया कि श्रीलंका भारत का एक अहम पार्टनर रहा है और हम आने वाले साल में अपने बाइलैटरल डिफेंस कोऑपरेशन का विस्तार करना जारी रखेंगे। भारत श्रीलंका को कुल दो डोर्नियर एयरक्राफ्ट सौंपेगा। इन एयरक्राफ्ट्स को एयरोस्पेस कंपनी हिन्दुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) बना रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here