Home देश

भाजपा की केंद्र सरकार एमसीडी चुनाव के लिए परिसीमन और चुनाव तारीख की जानकारी जल्द से जल्द पेश करे

39
0

नई दिल्ली । आम आदमी पार्टी ने भाजपा शासित केंद्र सरकार से एमसीडी चुनाव के लिए एक समयबद्ध कार्यक्रम की मांग की है। आम आदमी पार्टी के दिल्ली प्रदेश संयोजक एवं कैबिनेट मंत्री गोपाल राय ने कहा कि जिस तत्परता के साथ आधे घंटे पहले एमसीडी चुनाव रद्द किया गया, उसी तत्परता के साथ परिसीमन और चुनाव तारीख की जानकारी दी जाए।

केंद्र सरकार एकीकरण का फरमान जारी करने के बाद सो गई है जिसके कारण दिल्ली में सफाई व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है। भाजपा ने दिल्ली के लोगों को लावारिसों की तरह छोड़ दिया है। लोगों को यह तक नहीं मालूम की सफाई की शिकायत लेकर किसके पास जाएं। दिल्ली की जनता एमसीडी चुनाव का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। उन्होंने राजेंद्र नगर उपचुनाव में आम आदमी पार्टी का विधायक चुनकर साबित कर दिया है कि उन्हें एमसीडी में भाजपा बिल्कुल नहीं चाहिए।

आम आदमी पार्टी के दिल्ली प्रदेश संयोजक एवं कैबिनेट मंत्री गोपाल राय ने मंगलवार को एक महत्वपूर्ण प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि दिल्ली में सभी विधानसभा क्षेत्रों के सभी वार्डों में एमसीडी द्वारा जो सफाई की व्यवस्था है, वह पूरी तरह से चरमरा गई है। हमने कल दिल्ली के अलग-अलग क्षेत्रों में जहां पर पहले चुने हुए पार्षद थे, उनसे बात की।

पहले भी स्थिति बहुत बुरी थी लेकिन आज बदतर हो चुकी है। केंद्र सरकार केवल एकीकरण का एक फरमान जारी करने के बाद सो गई है। पहले यदि विधासभा के किसी वॉर्ड में सफाई नहीं होती थी तो लोग शिकायत लेकर पार्षद के पास पहुंचते थे। कम से कम पार्षदों पर सफाई व्यवस्था पर ध्यान देने का दबाव था। लेकिन अब लोगों को शिकायत करनी हो तो उनके पास किसी के पास जाने का विकल्प नहीं बचा है।

उन्होंने कहा कि देश के गृहमंत्री अमित शाह जी ने जिस तरह से सदन की बैठक में पूरे तामझाम के साथ कहा कि तीनों निगमों के एकीकरण से एमसीडी का कायापलट हो जाएगा। हालात यह हैं कि एमसीडी को केंद्र सरकार से अबतक एक रुपए का फंड नहीं मिला है। सभी पार्षद और तीनों कमिश्नर मिलकर जो काम नहीं कर पा रहे थे, केंद्र सरकार को लगता है कि एक विशेष अधिकारी और तीन कमिश्नर की जगह एक कमिश्नर लगा देने से दिल्ली में सब ठीक हो जाएगा।

गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली की एमसीडी में 15 सालों से आपका साशन है। 10 सालों की सत्ता के बाद दिल्ली में भ्रष्टाचार का ऐसा बोलबाला हुआ कि पूरी दिल्ली कूड़ा-कूड़ा हो गई। आपकी पार्टी ने स्वीकार किया कि आपके चुने हुए जो 272 पार्षद हैं, यदि उन्हें चुनाव लड़ाएंगे तो भाजपा की जमानत जप्त होगी। इसलिए आपने सभी पार्षदों का टिकट काटने का षडयंत्र रचा। इस प्रकार आपने दिल्ली के लोगों से दोबारा विश्वास का आग्रह किया और दिल्ली के लोगों ने आपको दोबारा मौका दिया। लेकिन उसके बाद भ्रष्टाचार के सभी रिकॉर्ड टूट गए। एमसीडी में सरेआम संपत्तियां बेचने की नौबत आ गई। भाजपा वालों ने कहा कि हमारे पास पैसा कम है। पैसा कम क्यों हुआ? क्योंकि भ्रष्टाचार बढ़ा।

‘आप’ नेता ने कहा कि 15 सालों के भ्रष्ट शासन के बाद जब चुनाव आयोग ने 9 मार्च को दिल्ली में एमसीडी का चुनाव कराने के लिए प्रेसवार्ता बुलाई। इससे आधा घंटा पहले यह फरमान जारी हुआ कि दिल्ली की तीनों निगमों का एकीकरण करना है, इससे दिल्ली में भ्रष्टाचार का खात्मा होगा, सफाई व्यवस्था में सुधार होगा और सभी समस्याएं खत्म हो जाएंगी। चुनाव आयोग ने जो प्रेसवार्ता एमसीडी चुनाव की तारीख की घोषणा करने के लिए बुलाई थी, उसमें उन्होंने चुनाव रद्द होने की घोषणा की।

उन्होंने कहा कि 15 सालों से एमसीडी में आपकी सरकार थी और पिछले 8 सालों से आप केंद्र में बैठे हैं। आपको कभी एकीकरण का ख्याल नहीं आया। चुनाव घोषित होने से कुछ देर पहले अचानक चुनाव रद्द करने का खेल किया क्योंकि आप चुनाव हार रहे थे। उसके बाद पूरी दिल्ली में गरीबों के घरों पर बुलडोजर चलाए गए। जगह-जगह नफरत फैलाने की कोशिश की गई। राजेंद्र नगर उपचुनाव में आपने अपने 40 नेताओं को उतारा, आम आदमी पार्टी को बदनाम करने के लिए पोल-खोल अभियान चलाया। सभी तीन-तिकड़म के बावजूद चुनाव परिणाम ने साबित कर दिया कि दिल्ली के लोग एमसीडी में भाजपा की भ्रष्ट राजनीति बिल्कुल नहीं चाहते हैं।

‘आप’ प्रदेश संयोजक ने कहा कि दिल्ली में तीनों निगमों में अधिकारियों, कर्मचारियों और निचले स्तर के कर्मचारियों का जो तौर-तरीका था, वह जस का तस बना हुआ है। उन्हें आज भी नहीं पता है कि किसे क्या काम करना है। जितनी भी लंबित फाइलें हैं, वह अभी भी पुरानी जगह पड़ी हुई हैं। इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा? इसकी पूरी जिम्मेदारी आपका विशेष अधिकारी नहीं ले पाएगा इसलिए आम आदमी पार्टी की ओर से मांग करता हूं कि एमसीडी के चुनाव के लिए एक तारीख और समय तय करें। कितने दिनों में परिसीमन होगा और उसके बाद चुनाव कब करेंगे, इसकी जानकारी हमें उपलब्ध कराएं। आपको जितना भी समय चाहिए लीजिए, लेकिन दिल्ली के लोग एक तय समय की जानकारी की उम्मीद लगाए बैठे हैं।

उन्होंने कहा कि दिल्ली के लोग परेशान हैं कि यदि कोई समस्या होती है तो इसके लिए वह किसके पास जाएं? इसलिए दिल्ली में हर दिन सफाई होना जरूरी है। दिल्ली को लोगों को बताइए कि आप 272 वार्डों में चुनाव कराना चाहते हैं या उन्हें 250 वार्ड में सीमित करना है। इसका एक समयबद्ध कार्यक्रम दिल्ली के लोगों के सामने पेश कीजिए। या फिर उन्हें बता दीजिए कि यह प्रक्रिया अनंतकाल तक चलती रहेगी। हम चाहते हैं कि जिस तत्परता के साथ आधे घंटे पहले चुनाव को रद्द किया गया। उसी तत्परता के साथ चुनाव की जिम्मेदारी को गंभीरता से लिया जाए और एक समयबद्ध कार्यक्रम पेश किया जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here